Tense कितना प्रसार के होते हैं | Tense kitna prakar ke hote hain in hindi

Tense कितना प्रसार के होते हैं | Tense kitna prakar ke hote hain in hindi

Tense कितना प्रसार के होते हैं: नमस्कार दोस्तों आशा करता हूं आप बिल्कुल ठीक होंगे दोस्तों आज के इस आर्टिकल के मदद से हम Tense kitna prakar ke hote hain in hindi के बारे में संपूर्ण जानकारी पूरे विस्तार से प्राप्त करने वाले हैं और हम इसे समझने भी वाले हैं। दोस्तों आपको मालूम ही होगा कि अब लोग हिंदी से इंग्लिश की ओर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं और लोग पहले की अपेक्षा इंग्लिश लिखने में काफी जोर भी दे रहे हैं। क्योंकि दोस्तों

 अब हर एक जगह पर हिंदी से अधिक महत्व इंग्लिश को दिया जाता है लोग इंडिया से बाहर पढ़ने जाते हैं तो वहां हिंदी की जरूरत नहीं होती है वहां सभी लोग इंग्लिश में ही बात करते हैं और अगर आप गांव से शहर की ओर भारत में ही जाइएगा तो लोग इंग्लिश में बात करने लगते हैं और अगर अच्छे अच्छे स्कूल में आप जाइएगा तो लोग इंग्लिश में ही बात करते हैं तो ढेर सारे लोग इंग्लिश सीखने के लिए टेंस को सीखते हैं क्योंकि आपको मालूम ही होगा कि ग्रामर में टेंस की कितनी महत्व है। दोस्तों अगर आप अच्छे से इंग्लिश बोलना जानना चाहते हैं तो

 आपको टेन्स सीखना बहुत जरूरी है क्योंकि टेंस आपके ग्रामर मिस्टेक्स को काफी अधिक हद तक सुधार सकता है और आपको इंग्लिश बोलने में सक्षम कर सकता है इसलिए कई सारे लोग पैसे देकर इन टेंस सीखना चाहते हैं और अलग-अलग इंग्लिश के कोचिंग भी करते हैं जिनमें वह टेंस सीखते हैं दोस्तों आज के इस आर्टिकल को हम इन सभी लोगों के लिए ही लिखने वाले हैं। दोस्तों हमने इस लेख में टेन्स से जुड़ी सभी जानकारियों को पूरे विस्तार से बताया है और

आप को समझाने की कोशिश भी की है हमने इस लेख में टेंस के प्रकार भी बताए हैं और उनके प्रकारों पर भी विचार विमर्श किया है। दोस्तों अगर आप टेन्स से जुड़ी सभी जानकारी को सच में प्राप्त करना चाहते हैं और यह भी जानना चाहते हैं कि टेंस के कितने प्रकार होते हैं तो कृपया करके आप हमारे इस लेख को ध्यान से पूरे अंत तक पड़े तभी आपको हमारा या लेख अच्छे से समझ में आएगा तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं इस लेख को बिना देरी किए हुए

Tense कितना प्रसार के होते हैं

Tense क्या होता है ?

दोस्तों हमारा मुख्य टॉपिक था टेंस के प्रकार पर हमने सोचा कि क्यों ना आपको पहले यह बता दिया जाए कि टेंस क्या होता है दोस्तों इस टॉपिक में हम जाने वाले हैं कि टेंस क्या होता है फिर उसके अगले टॉपिक में जानेंगे कि टेंस के कितने प्रकार होते हैं तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं इस टॉपिक को और जानते हैं कि टेंस क्या है दोस्तों जिसे हम  काल (संज्ञा) के रूप में भी जानते है।

 गाइस यह एक एक क्रिया- पर पूर्ण रूप से आधारित विधि होता है जिसका इस्तेमाल  समय को बेहतर तरह से इंगित करने के लिए ही किया जाता है, और आमतौर पर कभी-कभी ढेर सारे लोग बोलने के समय के संबंध में भी किसी क्रिया या कह कह सकते है कि अवस्था की निरंतरता या उसके  पूर्णता के आधार पर किया जाता है ।

मूल लैटिन टेम्पस ” जो किसी खास समय” और अंग्रेजी में काल तानी टेंस की अवधारणा एक ऐसी विधि होती है जिसका इस्तेमाल में हम समय – को भूत काल , वर्तमान काल और भविष्य काल के संदर्भ में  इसे करते हैं। इसके कई सारे भाषाएं समय के बारे में बात करने के लिए काल यानी कि टेंस का उपयोग करती हैं। 

गाइस जैसे कि हम अन्य भाषाओं में काल की कोई और किसी तरह का भी अवधारणा नहीं है, लेकिन यह किसी निश्चित रूप से वे अभी भी विभिन्न विभिन्न तरीकों का उपयोग करके आप इसके समय के बारे में बेहतर तरीका से बात कर सकते हैं। तो, गाइस हम समय के बारे में अंग्रेजी में तनाव के साथ जब भी बात करते हैं या कह सकते है कि जब भी हम अंग्रेजी भाषा मे बात करते है तो टेन्स का प्रयोग थोड़ा बहुत जरूर  करते है । 

लेकिन, और यह बहुत बड़ा है, हम समय के बारे में बिना किसी तरह के तनाव के भी बात कर सकते हैं ( आपको समझने के लिए उदाहरण के लिए, अगर हम भविष्य के बारे में किसी भी चीज़ का जिक्र करते है या बात करने के लिए यह एक विशेष निर्माण जाना है, यह काल बिलकुल भी नहीं है) गाइस एक काल हमेशा एक समय के ही  बारे में बिल्कुल भी बात नहीं करता है (उदाहरण के लिए, हम भविष्य के बारे में जब भी कोई बात करने के लिए वर्तमान काल या भूतकाल का भी उपयोग बड़े ही आराम से कर सकते हैं । 

यह भी परे:

Tense kitna prakar ke hote hain?

दोस्तों जैसे कि हमने ऊपर के टॉपिक में जाना कि टेंस क्या है और अब हम इस टॉपिक में बात करने वाले हैं कि Tense kitna prakar ke hote hain तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं इस टॉपिक को दोस्तों हम आपके लिए जानकारी के लिए बता दें कि टेंस के लगभग प्रकार होते हैं जिनमें से

  • 1. Past tense ( भूत काल )
  • 2. Present tense ( वर्तमान काल )
  • 3. Future tense ( भाभिस्य काल )

दोस्तों जैसे कि हमने ऊपर के टॉपिक में जाना कि टेंस के लगभग 3 प्रकार होते हैं जिनमें से पहला होता है भूतकाल दूसरा होता है वर्तमान काल तीसरा होता है भविष्य काल दोस्तों अब हम इन तीनों टॉपिक पर थोड़ा विचार विमर्श कर लेते हैं और इनके बारे में थोड़ी विस्तार से समझ लेते हैं तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं इस अगले टॉपिक को

1. Past tense ( भूत काल )

दोस्तों जैसे कि हमने ऊपर के टॉपिक में जाना कि टेंस क्या होता है दोस्तों उसी तरह से हमने अभी जाना किटेंस के कितने प्रकार होते हैं उस तो टेंस के 3 प्रकार होता है जिन में से एक का नाम है भूतकाल और हम इस टॉपिक में भूतकाल पर विचार विमर्श करने वाले हैं दोस्तों अगर आपने टेन्स थोड़ा बहुत भी पढ़ा होगा तो आप इस के नाम से समझ सकते हैं कि यह किस चीज़ को दर्शाता है।

दोस्तों अगर आप भूतकाल के बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं तो मैं आपको बता दूं कि आपको भूतकाल के नाम से ही मालूम चल चुका होगा यह किस चीज़ का बोध करता है। गाइस क्रिया के जिस किसी भी रूप से बीते हुए समय यानी कि जो समय बीत चुका है अगर उस का बोध होता है, तो उसे हम भूतकाल कहते है। हर हम इस  सरल शब्दों में समझे तो – जिससे क्रिया से कार्य की समाप्ति का बोध हो, उसे ही हम भूतकाल की क्रिया भी कहते हैं।

 जैसे- रिशभ खा चुका था; अमित ने अपना पाठ याद किया; रिसभ पुस्तक पढ़ ली था , राम अपना खाना खा चुका था , इत्यादि 

उपर्युक्त में से लगभग सभी वाक्य बीते हुए समय यानी कि भूत काल में क्रिया के होने का बोध करा रहे हैं। अतः ये  सभी भूतकाल के ही वाक्य है।

दोस्तो आपको भूतकाल को अच्छे से  पहचानने के लिए यह याद रखे और ध्यान दे की भूत काल के वाक्य के अन्त में ‘था, थे, थी’ आदि आते हैं।

दोस्तो क्या आपको मालूम है कि भूत काल के भी भेद होते है। भूत काल के लगभग छ्ह भेद होते है

भूतकाल के छह भेद होते है-

  • (i)सामान्य भूतकाल (Simple Past)
  • (ii)आसन भूतकाल (Recent Past )
  • (iii)संदिग्ध भूतकाल (Doubtful Past)
  • (iv)हेतुहेतुमद् भूत (Conditional Past)
  • (v)पूर्ण भूतकाल (Complete Past)
  • (vi)अपूर्ण भूतकाल (Incomplete Past)

2. Present tense ( वर्तमान काल )

दोस्तों जैसे कि हमने ऊपर के टॉपिक में जाना कि टेंस क्या होता है दोस्तों उसी तरह से हमने अभी जाना किटेंस के कितने प्रकार होते हैं उस तो टेंस के 3 प्रकार होता है जिन में से एक का नाम है वर्तमान काल और हम इस टॉपिक में वर्तमान काल पर विचार विमर्श करने वाले हैं दोस्तों अगर आपने टेन्स थोड़ा बहुत भी पढ़ा होगा तो आप इस के नाम से समझ सकते हैं कि यह किस चीज़ को दर्शाता है।

दोस्तों अगर आप वर्तमान काल  के बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं तो मैं आपको बता दूं कि आपको वर्तमान काल के नाम से ही मालूम चल चुका होगा यह किस चीज़ का बोध करता है। गाइस क्रिया के जिस किसी भी रूप से वर्तमान में चल रहे समय का इंगित या बोध होता है, उसे हम वर्तमान काल कहते है। दोस्तों अगर हम इसे सरल शब्दों में समझे तो जो भी काम वर्तमान समय में होता है उसे हम वर्तमान काल के अंदर रखते हैं।

जैसे- रिषभ के पिता जी समाचार सुन रहे हैं।

सुमन पंडित जी पूजा कर रहा है।

प्रियंका स्कूल जाती हैं।

कनक सर अंग्रेजी पढ़ा रहे है।, इत्यादि

उपर्युक्त वाक्यों में अगर क्रिया के वर्तमान समय के में होने का अनुमान लगया जा रहा है। अतः हमारे बताये गए ये सभी क्रियाएँ वर्तमान काल की ही क्रियाएँ हैं।

दोस्तो आपको वर्तमान काल को अच्छे से  पहचानने के लिए यह याद रखे और ध्यान दे की वर्तमान काल के वाक्य के अन्त में ता है , ती है , ते है’  रहा है, रही है, आदि आते हैं।

दोस्तो क्या आपको मालूम है कि वर्तमान काल के भी भेद होते है। वर्तमान काल के लगभग पांच भेद होते है

वर्तमान काल यानी present tense के पाँच भेद होते है-

  • (i)सामान्य वर्तमानकाल
  • (ii)संदिग्ध वर्तमानकाल
  • (iii)अपूर्ण वर्तमानकाल
  • (iv)पूर्ण वर्तमानकाल
  • (v)तत्कालिक वर्तमानकाल
  • (vi)संभाव्य वर्तमानकाल

3. Future tense ( भाभिस्य काल )

दोस्तों जैसे कि हमने ऊपर के टॉपिक में जाना कि टेंस क्या होता है दोस्तों उसी तरह से हमने अभी जाना कि टेंस के कितने प्रकार होते हैं उस तो टेंस के 3 प्रकार होता है जिन में से एक का नाम है भाभिस्य काल और हम इस टॉपिक में भाभिस्य काल पर विचार विमर्श करने वाले हैं दोस्तों अगर आपने टेन्स थोड़ा बहुत भी पढ़ा होगा तो आप इस के नाम से समझ सकते हैं कि यह किस चीज़ को दर्शाता है।

दोस्तों अगर आप भाभिस्य काल के बारे में विस्तार से जानना चाहते हैं तो मैं आपको बता दूं कि आपको भाभिस्य काल के नाम से ही मालूम चल चुका होगा यह किस चीज़ का बोध करता है। गाइस लगभग सभी भविष्य में होनेवाली क्रिया को हम भविष्यतकाल की क्रिया भी कहते है। अगर हम इसे सरल शब्दो में समझे तो क्रिया के जिस किसी भी रूप से काम का आने वाले जो भाभिस्य समय में करना या होना आगे प्रकट हो, उसे ही हम भविष्यतकाल कहते है।

जैसे- रिषभ कल घर जाएगा।

अमित आज सर्कस देखने जायेंगे।

किसान अपने खेत में बीज बोयेगा।

राना सर आज इंग्लिश बढ़ाएंगे।, इत्यादि

गाइस उपर्युक्त  के लगभग सभी वाक्यों की क्रियाएँ और वाक्यो से यह साफ साफ पता चलता है कि ये सब कार्य आने वाले समय में पूरे होंगे यानी कि भाभिस्य में। अतः ये  सभी भविष्यत काल की क्रियाएँ हैं।

दोस्तो आपको भविष्यत काल को अच्छे से  पहचानने के लिए यह याद रखे और ध्यान दे की भविष्यत काल के वाक्य के अन्त में ता है , गा है , गी है’  गे है,  आदि आते हैं।

दोस्तो क्या आपको मालूम है कि भविष्यत काल के भी भेद होते है। भविष्यत काल के लगभग तीन भेद होते है 

भविष्यतकाल के तीन भेद होते है :-

  • (i)सामान्य भविष्यत काल
  • (ii)हेतुहेतुमद्भविष्य भविष्यत काल
  • (iii)सम्भाव्य भविष्यत काल

दोस्तों हमने आपको ऊपर के टॉपिक में टेंस के तीनों पर कारों के बारे में स्टेप बाय स्टेप करके बताया है। और इनका परिभाषा भी बताया है और जिनको टेंस क्या है यह भी नही मालूम था इनके लिए हमने सबसे ऊपर के टॉपिक में यह भी बताया है कि टेंस क्या होता है।

अगर आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो तो हमें Google News पर फॉलो करें।